Hindi English Marathi Punjabi Gujarati Urdu

आज के जमाने में भी लोग देसी फ्रिज का उपयोग करते हैं।

आज के जमाने में भी लोग देसी फ्रिज का उपयोग करते हैं।

इन्हे भी जरूर देखे

साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी फैलाने में सफल प्रदेश अध्यक्ष नंदनी नेताम

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी...

साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी फैलाने में सफल प्रदेश महिला मोर्चा महामंत्री श्रीमती विभा अश्वनी अवस्थी

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी...

✍️ “लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव”संपादक- विक्रम कुमार नागेश की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)

आज के जमाने में भी लोग देसी फ्रिज का उपयोग करते हैं।

गरियाबंद- जीवों के जल स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदायक होता है। इसलिए कुछ लोग पानी को प्राकृतिक रूप से ठंडा करने के लिए पानी को मटके में स्टोर करते हैं। मटके या घड़े में पानी को स्टोर करने से उसे ठंडा करने में मदद मिलती है साथ ही पानी से गंदगी और टॉक्सिन भी निकल जाते हैं। यह एक वॉल्टर फायरफायर की तरह काम करता है। स्वास्थ्य के लिए मटके के पानी के बहुत से लाभ माने जाते हैं। लेकिन मटके का पानी पीते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। अगर आप सही तरीके से मटके में रखते हैं पानी का सेवन नहीं करते हैं या मटके में पानी ठीक से स्टोर नहीं करते हैं तो यह आपके काम आने का नुकसान पहुंचा सकता है।

ध्यान देने वाली बात अगर हम मटके का पानी पी रहे हैं तो – पानी निकालने के लिए हैंडल वाले नोट का इस्तेमाल करें।

हम में से ज्यादातर लोग टम्बलर या अन्य बर्टनों की मदद से साझेदारी करते हैं मटके से पानी निकालते हैं ऐसा करना ठीक भी ठीक नहीं है। जब आप हाथ जोड़कर मटके से पानी निकालने की कोशिश करते हैं तो ऐसे में आपके हाथ और मलबे में गंदगी से पानी का गुस्सा और क्षतिग्रस्त हो जाता है, जो कि गंभीर स्वास्थ्य स्थिति का कारण बन सकता है। इसलिए हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि जब भी आप मटके से पानी लगाएं तो किसी भी हैंडल वाले साफ नोट का इस्तेमाल करें।

मटके में रोज नया पानी भरें- मटके पानी जैसे-जैसे खत्म होता रहता है तो लोग अक्सर उसके ऊपर ही नए पानी के संबंध मटके को भरते रहते हैं, लेकिन आपको ऐसा करने से बचना चाहिए। मटके की रोजाना सफाई करना महत्वपूर्ण है और हर बार उसे साफ करने के बाद उसमें ताजा पानी भरना होता है। अगर पानी कई दिनों तक मटके में रहता है तो उनमें से कोई भी खतरनाक बैक्टीरिया फैलाते हैं जो पेट से जुड़ी शिकायतें, इंफेक्शन और टाइइटी सर्टिफिकेट के साथ ही कई अन्य स्वास्थ्य को जन्म देते हैं।


मटके के चारों तरफ लपेटते हैं तो इसे रोज-रोज-
गर्मियों में पानी को ज्यादा तेजी से ठंडा करने के लिए लोग मटके चारों तरफ से कपड़े से ढक देते हैं। साथ ही उसे खिड़की के पास किसी टेबल पर रखें। इस कपड़े की संपूर्ण सफाई करना बहुत जरूरी है, क्योंकि इस पर गंदगी सबसे ज्यादा जमा होती है। जो फियरिंग और स्ट्रीट इंफेक्शन जैसे होने का कारण बन सकता है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपने कपड़ों को पूरी तरह साफ कर लें या दूसरे कपड़ों से मटके को कवर कर लें।

मटके को खुला न छोड़ें – मटके में पानी स्टोर करते समय आपको इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि आप मटके को ठीक रखें। हर बार जब आप मटके से पानी निकालते हैं तो उसे ठीक नहीं करते हैं, क्योंकि इससे मटके में धूल और गंदगी जा सकती है। उसी के साथ पानी में कीड़े-मकोड़े भी घुस सकते हैं जिससे आपका पानी क्षतिग्रस्त हो सकता है।

मटके का पानी पीने के फायदे –मटके का पानी पीने से रोग संबंधी क्षमता मजबूत होती है, जिससे आप कई बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। गर्मी के मौसम में अक्सर लोगों को लू लग जाती है, जिसकी वजह से बीमार पड़ जाते हैं। लेकिन अगर आप मटके का पानी पीते हैं, तो इससे आप लू से बच सकते हैं। गले में दवा की शिकायत होने पर काफी पानी से काफी नुकसान होता है, लेकिन अगर आप मटके के पानी का सेवन करते हैं, तो इससे गले में दवा की शिकायत दूर होती है। जिन लोगों को तालाब की शिकायत होती है, उनके लिए मटके का पानी काफी मायने रखता है। क्योंकि मिट्टी में आयरन की मात्रा पाई जाती है, इसलिए यदि आप मटके का पानी पीते हैं, तो इससे जलाशय की शिकायत होती है। मटके का पानी पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि मटके का पानी पीने से एसिडिटी की शिकायत दूर होती है, साथ ही पाचन तंत्र भी बेहतर रहता है। मटके के पानी का सेवन स्किन के लिए भी काफी मायने रखता है। क्योंकि मटके का पानी विटामिन और अजीबोगरीब से भरपूर होता है, इसलिए अगर आप इसका सेवन करते हैं, तो इससे त्वचा हेल्दी रहती है। साथ ही त्वचा संबंधी परेशानियां भी दूर होती हैं। शरीर में दर्द की शिकायत दूर होने पर मटके के पानी का नुस्खा काफी हद तक व्यर्थ होता है। क्योंकि मिट्टी में एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं। जो दर्द को कम करने में साबित होते हैं।

मटके का पानी पीने से नुकसान – जो लोग मटके के पानी का सेवन करते हैं, उन्हें इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि मटका रहें, अगर मटका आक्रोश रहेगा तो आप कई स्पष्ट नियमों के शिकार हो सकते हैं।

एक ही मटके का इस्तेमाल कई दिनों तक नहीं करना चाहिए, क्योंकि अगर आप एक ही मटके का इस्तेमाल करते हैं, तो इसके अंदर तथ्य की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इन्हे भी जरूर देखे

साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी फैलाने में सफल प्रदेश अध्यक्ष नंदनी नेताम

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी...

साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी फैलाने में सफल प्रदेश महिला मोर्चा महामंत्री श्रीमती विभा अश्वनी अवस्थी

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   साय सरकार के छः महीने.. छत्तीसगढ़ में उम्मीदों की नई रोशनी...

नवनिर्वाचित सांसद भोजराज नाग जी का प्रथम आगमन बड़ेडोंगर मंडल में हुआ ‌ मां दंतेश्वरी की प्रांगण में कार्यकर्ताओं द्वारा भव्य स्वागत किया...

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) नवनिर्वाचित सांसद भोजराज नाग जी का प्रथम आगमन बड़ेडोंगर मंडल में...

Must Read

कस्बा नानपारा जनपद बहराइच में आगामी त्यौहार के दृष्टिगत कोतवाली नानपारा में पीस कमिटी की मीटिंग की गई

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" संवाददाता– अली शेर कादरी की रिपोर्ट नानपारा जनपद बहराइच (उत्तर प्रदेश) कस्बा नानपारा जनपद बहराइच में आगामी त्यौहार के दृष्टिगत...

देवभोग सुकली भाठा (पुराना) के ग्रामीणों ने गांव कि कूड़ा कच्चरा गंदगियों को किये साफ सफाई एवं मौके पर मनाई गई स्वच्छता दिवस

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" जिला ब्यूरो चीफ– चरण सिंह क्षेत्रपाल की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) देवभोग सुकली भाठा (पुराना) के ग्रामीणों ने गांव कि कूड़ा...

छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा” ने मुख्यमंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री से प्रदेश के 3266 से अधिक शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी...

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   "छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा" ने मुख्यमंत्री एवं स्कूल शिक्षा...

राजिम अंचल की वरिष्ठ कवियित्री केवरा यदु”मीरा” डाक्टरेट की मानद उपाधि से हुई सम्मानित

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   राजिम अंचल की वरिष्ठ कवियित्री केवरा यदु"मीरा" डाक्टरेट की मानद उपाधि...