Hindi English Marathi Punjabi Gujarati Urdu

अमलीपदर-कांदाडोंगर में श्रीराम से जुड़ी अनेक कथाएँ प्रचलित कांदाडोंगर गरियाबंद जिले का एक अनमोल धरोहर है!जिसे शासन प्रशासन को संज्ञान लेकर शीघ्र ही पूर्ण पर्यटन स्थल का दर्जा देना चाहिए

अमलीपदर-कांदाडोंगर में श्रीराम से जुड़ी अनेक कथाएँ प्रचलित कांदाडोंगर गरियाबंद जिले का एक अनमोल धरोहर है!जिसे शासन प्रशासन को संज्ञान लेकर शीघ्र ही पूर्ण पर्यटन स्थल का दर्जा देना चाहिए

इन्हे भी जरूर देखे

पूर्व विधायक के बंगले में गार्ड की ड्यूटी कर रहे आरक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, लंजोड़ा बुकापारा में स्तिथ नदी किनारे की घटना

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   पूर्व विधायक के बंगले में गार्ड की ड्यूटी कर रहे आरक्षक...

कोदोभाठा (दरलीपारा) के नालियों को नहीं कि गई है साफ-सफाई बरसता के मौसम में मच्छर काटने की चिंताएं ग्रामीणों को सताने लगी

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" जिला ब्यूरो चीफ –चरण सिंह क्षेत्रपाल की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) कोदोभाठा (दरलीपारा) के नालियों को नहीं कि गई है साफ-सफाई...

✍️ “लोकहित 24 न्यूज एक्सप्रेस लाइव” संपादक- विक्रम कुमार नागेश की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)

अमलीपदर-कांदाडोंगर में श्रीराम से जुड़ी अनेक कथाएँ प्रचलित

कांदाडोंगर गरियाबंद जिले का एक अनमोल धरोहर है!जिसे शासन प्रशासन को संज्ञान लेकर शीघ्र ही पूर्ण पर्यटन स्थल का दर्जा देना चाहिए

गरियाबंद-जिले के मैनपुर ब्लॉक नवीन तहसील कोर्ट अमलीपदर क्षेत्र ग्राम पंचायत गोढियारी में स्थित धार्मिक पर्यटन स्थल कांदाडोंगर पहाड़ है जहाँ पर प्रत्येक वर्ष
चौरासीगढ़ के लोगों द्वारा नवरात्रि पर्व के पावन अवसर पर विजयदशमी के दिन देव दशहरा पर्व को बडे़ ही धूमधाम से मनाया जाता हैं‌ ज्ञात हो कि मान्यता के अनुसार कांदाडोंगर में त्रेतायुग युग से निरंतर दशहरा पर्व मनाते चले आ रहे हैं जिसके पिछे अनेक ऐतिहासिक,धार्मिक मान्यताएँ प्रचलित है‌ कहा जाता है कि वनवास काल के दौरान सीता माता की खोज में भगवान श्री राम और लक्ष्मण जी दण्ड कारण्य कहा जाने वाला इस कांदाडोंगर पर्वत क्षेत्र में आये थे तथा इसी पर्वत के दक्षिण दिशा में स्थित जोगीमठ में तपस्यारत ऋषि सरभंग से मिले,और यहाँ के कंदमूल खाकर कुछ पल बिताए थे‌ और इसी मार्ग से होते हुए भद्राचलम के लिए प्रस्थान किए थे!कहा जाता है कि रावण वध करके जब भगवान श्री राम अयोध्या वापस लौट रहे थे तब इस बात की खबर सुनते ही इस क्षेत्र के चौरासीगढ़ के देवी देवता अपना ध्वज पताका लेकर कांदाडोंगर में एकत्रित हुए थे तथा असत्य पर सत्य की जीत की खुशी मनाये थे‌ तब से लेकर आज पर्यन्त तक यह परम्परा हमेशा से चलते आ रहा है कांदाडोंगर के इसी पर्वत श्रेणी के ऊपर गुफा में चौरासीगढ़ की प्रमुख देवी माँ कुलेश्वरीन,खम्बेश्वरीन विराजमान हैं!तथा साथ में कचनाध्रुवा जी भी यहाँ विराजमान हैं!जिनका विजया दशमी के दिन विधि-विधान से यहाँ के झांकर पुजारियों द्वारा आदिवासी परम्परा अनुरूप पूजा-अर्चना किया जाता है!इतना ही नही बल्कि यहाँ के दशहरा मड़ई मेला में चौरासी गढ़ के देवी-देवता अपना ध्वज पताका लेकर यहाँ पहुचते हैं तथा लाखों की तादाद में यहाँ पर क्षेत्रभर के श्रद्धालु भक्तों का तांता लगता है!यहाँ के दशहरा पर्व की एक और विशेषता है कि
इस दिन देवी देवता सुवा नृत्य करते हैं!जिनका दर्शन कर समस्त क्षेत्रवासी आशीर्वाद प्राप्त करते हैं!कहा जाता है कि यहाँ विराजित देवी माँ कुलेश्वरीन भक्तों के सभी मनोकामना पुरी करती है!
*कांदाडोंगर में ऐतिहासिक गुफाएं मौजूद*
ज्ञात हो कि पर्वत श्रेणी में कई प्रचलित गुफाएं हैं जिसे इज भी यहाँ के रहवासी हनुमान झुला, लक्ष्मण झुला,और भीम खोज नामक गुफा से जानते हैं इतना ही नही बल्कि इस खूबसूरत कांदाडोंगर पर्वत में प्राकृतिक संपदा का भंडार है!जहाँ साल सागौन,इमारती लकड़ी,फलदार वृक्ष के अलावा अनेक जडी़बुटी जैसे उपयोगी सघन वन हैं!जिसके संरक्षण की विशेष आवश्यकता है!
*कांदाडोंगर को पूर्ण पर्यटन स्थल का मिले दर्जा*
कांदाडोंगर के अनेक ऐतिहासिक मान्यताओं और लाखों श्रद्धालु भक्तों के धार्मिक आस्था का केन्द्र होने के बावजूद आज तक कांदाडोंगर को पूर्ण पर्यटन स्थल का दर्जा नही मिल पाया है!जबकि क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा शासन प्रशासन से कई दफा मांग किया जा चुका है!क्षेत्रवासियों को भी बरसों से इसी बात का इंतजार है कि कब कांदाडोंगर को पूर्ण पर्यटन स्थल का दर्जा मिलेगा!यदि शासन प्रशासन इसे पूर्ण पर्यटन का दर्जा देती है तो क्षेत्र के हजारों बेरोजगारों को रोजगार का अवसर मिलेगा!इसी आस में बेरोजगार भी बाट जोह रहे हैं!इस तरह कांदाडोंगर गरियाबंद जिले का एक अनमोल धरोहर है!जिसे शासन प्रशासन को संज्ञान लेकर शीघ्र ही पूर्ण पर्यटन का दर्जा देना चाहिए!जो क्षेत्रवासियों का बरसों पुरानी मांग है!

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इन्हे भी जरूर देखे

पूर्व विधायक के बंगले में गार्ड की ड्यूटी कर रहे आरक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, लंजोड़ा बुकापारा में स्तिथ नदी किनारे की घटना

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   पूर्व विधायक के बंगले में गार्ड की ड्यूटी कर रहे आरक्षक...

कोदोभाठा (दरलीपारा) के नालियों को नहीं कि गई है साफ-सफाई बरसता के मौसम में मच्छर काटने की चिंताएं ग्रामीणों को सताने लगी

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" जिला ब्यूरो चीफ –चरण सिंह क्षेत्रपाल की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) कोदोभाठा (दरलीपारा) के नालियों को नहीं कि गई है साफ-सफाई...

FLN प्रशिक्षण अमलीपदर में आयोजित…..

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) FLN प्रशिक्षण अमलीपदर में आयोजित..... इन दिनों प्राथमिक विद्यालय के शिक्षको का...

Must Read

तौरेंगा में आज तक नहीं पहुंची बिजली, युवा संघर्ष मोर्चा ने दी चक्काजाम की चेतावनी।

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) तौरेंगा में आज तक नहीं पहुंची बिजली, युवा संघर्ष मोर्चा ने...

कस्बा नानपारा जनपद बहराइच में आगामी त्यौहार के दृष्टिगत कोतवाली नानपारा में पीस कमिटी की मीटिंग की गई

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" संवाददाता– अली शेर कादरी की रिपोर्ट नानपारा जनपद बहराइच (उत्तर प्रदेश) कस्बा नानपारा जनपद बहराइच में आगामी त्यौहार के दृष्टिगत...

कोण्डागांव जिला अन्तर्गत ब्लॉक फरसगांव मुख्यालय स्थित बड़ेडोंगर मुख्यमार्ग में दारू भटी व चिकन चखना सेंटर हटाने को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   कोण्डागांव जिला अन्तर्गत ब्लॉक फरसगांव मुख्यालय स्थित बड़ेडोंगर मुख्यमार्ग में दारू...

धूमधाम से की गई वट सावित्री की पूजा पति के दीर्घायु के लिए सुहागिनो ने विधि विधान के साथ मांगी मन्नते

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) धूमधाम से की गई वट सावित्री की पूजा पति के दीर्घायु...