Hindi English Marathi Punjabi Gujarati Urdu

सृष्टि के सबसे बड़े और अद्भुत शिल्पकार विश्वकर्मा जी की पूजा का पर्व बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया

सृष्टि के सबसे बड़े और अद्भुत शिल्पकार विश्वकर्मा जी की पूजा का पर्व बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया

इन्हे भी जरूर देखे

भूमि संसाधन विभाग द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस पर मरूस्थल व सुख पुनर्धार की थीम पर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाखरपारा के छात्र -छात्राओं द्वारा...

  ✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) भूमि संसाधन विभाग द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस पर मरूस्थल व सुख...

जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा मितानों का प्रशिक्षण

✍🏻"लोकहित 24न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा मितानों का प्रशिक्षण छुरा–:–जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा...

✍️ “लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव” प्रधान संपादक- सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)

सृष्टि के सबसे बड़े और अद्भुत शिल्पकार विश्वकर्मा जी की पूजा का पर्व बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया

मुडा़गांव(कोरासी)ग्राम पंचायत फुलझर में रविवार को भगवान विश्वकर्मा जयंती है।हिंदू पंचांग के अनुसार विश्वकर्मा प्राकट्य दिवस हर साल कन्या संक्रांति के दिन मनाई गया।इस दिन भगवान विश्वकर्मा की विशेष रूप पूजा-आराधना किया गया है हर साल सृष्टि के सबसे बड़े और अद्भुत शिल्पकार विश्वकर्माजी की पूजा का पर्व बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ माना जाता है।शास्त्रों के अनुसार विश्वकर्मा जी सृष्टि के पहले शिल्पकार,वास्तुकार और इंजीनियर हैं।धर्म ग्रंथों के अनुसार जब ब्रह्राजी ने सृष्टि की रचना की तो इसके निर्माण कार्य की जिम्मेदारी भगवान विश्वकर्मा जी को दी। शास्त्रों के अनुसार भगवान विश्वकर्मा ब्रह्राा जी के सातवें पुत्र हैं।हर वर्ष विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर छोटे-बड़े प्रतिष्ठानों,कारखानों और विशेष तौर पर औजारों, निर्माण कार्य से जुड़ी मशीनों और दुकानों आदि की पूजा की जाती है।दरअसल विश्वकर्मा जी को यंत्रों का देवता भी माना जाता है।हिंदू मान्यताओं के अनुसार प्राचीन काल में देवी- देवताओं के महल और अस्त्र-शस्त्र भगवान विश्वकर्मा ने ही बनाए थे इसलिए इन्हें वास्तुकार और निर्माण का देवता कहा जाता है।धार्मिक मान्याताओं के अनुसार भगवान विश्वकर्मा जी ने इंद्रलोक,त्रेता में लंका,द्वापर में द्वारिका एवं हस्तिनापुर,कलयुग में जगन्नाथपुरी आदि का निर्माण किया था।इसके अलावा शिव जी का त्रिशूल,पुष्पक विमान,इंद्र का व्रज और भगवान विष्णु के लिए सुदर्शन चक्र को भी भगवान विश्वकर्मा ने ही बनाया था।
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विश्कर्मा वे देवता हैं जो हर काल में सृजन और निर्णाण के देवता रहे हैं।विश्वकर्मा जी को यंत्रों का देवता भी माना गया है। सम्पूर्ण सृष्टि में जो भी चीजें सृजनात्मक हैं सब भगवान विश्कर्मा की देन है।इस कारण से किसी कार्य के निर्माण और सृजन से जुड़े हुए लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना करते हैं।विश्वकर्मा पूजा का महत्व
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सृष्टि के निर्माण के देवता भगवान विश्वकर्मा जी हैं।इस कारण से विश्वकर्मा जयंती पर यंत्रों, दुकानों,कारखानों और औद्योगिक संस्थानों में लगी कलपुर्जों और मशीनों की पूजा की जाती है। इसके अलावा इस लोग अपने अलग-अलग प्रयोग में लाने वाले वाहनों की भी पूजा करते हैं।ऐसी मान्यता है कि विश्वकर्मा जयंती पर भगवान विश्वकर्मा और औजारों की पूजा-अर्चना करने लोगों की सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। बिजनेस और उद्योग-धंधे में लगे लोगों की तरक्की और उन्नति अच्छी होती है।विश्वकर्मा पूजा करने पर व्यापार और निर्माण कार्यों में आने वाली सभी तरह की परेशानियां दूर होती हैं। कारखानों में लगी मशीने पूरे साल सही तरीके से काम करती है।
सबसे पहले विश्वकर्मा जयंती के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ-सुथरे कपड़े पहनकर पूजा का संकल्प लें। इसके बाद कारखानों,प्रतिष्ठानों, औजारों और मशीनों आदि की साफ सफाई करके वहां पर विश्वकर्मा जी की मूर्ति का स्थापित करें।फिर पूजा सामग्री जैसे रोली,अक्षत,फल-फूल और मिठाई से भगवान विश्वकर्मी की पूजा करते हुए उनकी आरती करें।पूजा के दौरान ओम विश्वकर्मणे नमःमंत्र का जप करें।अंत में प्रसाद का वितरण करें।किया गया।इस कार्यक्रम में प्रमुख रुप से वरिष्ठ नागरिक संतुराम ध्रुव,धनेश ध्रुव,किशन समाजसेवी मनोज पटेल,रोशन देवांगन,पुनितराम ठाकुर,रेखराम ध्रुव,मिस्त्री संघ के सभी सदस्य गण एवं ग्रामीण जन उपस्थित थे।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इन्हे भी जरूर देखे

भूमि संसाधन विभाग द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस पर मरूस्थल व सुख पुनर्धार की थीम पर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाखरपारा के छात्र -छात्राओं द्वारा...

  ✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) भूमि संसाधन विभाग द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस पर मरूस्थल व सुख...

जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा मितानों का प्रशिक्षण

✍🏻"लोकहित 24न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़) जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा मितानों का प्रशिक्षण छुरा–:–जिला स्तर पर सड़क सुरक्षा...

जल जीवन मिशन योजनांतर्गत पानी टंकी उड़िसा व छत्तीसगढ़ राज्य का बहुत तफात अंतर दिखाई पड़ती है

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   जल जीवन मिशन योजनांतर्गत पानी टंकी उड़िसा व छत्तीसगढ़ राज्य का...

Must Read

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तर्ज पर अब होगी विद्यालयों में पढ़ाई,इस हेतु एफएलएन के तहत 27 से 30 मई तक चार दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न।

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तर्ज पर अब होगी विद्यालयों में पढ़ाई,इस...

निजात कार्यक्रम -अर्जुन नगर समता कॉलोनी में नशे का किया गया विरोध और जागरूकता अभियान शिविर लगा गया

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   निजात कार्यक्रम -अर्जुन नगर समता कॉलोनी में नशे का किया गया...

रक्तदान शिविर में महिला व नवयुवाओ ने लिया भाग

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   रक्तदान शिविर में महिला व नवयुवाओ ने लिया भाग मुडा़गांव(कोरासी)छुरा विकासखण्ड के...

शासकीय महाविद्यालय द्वारा पक्षियों के लिए निःशुल्क सकोरे वितरण

✍🏻"लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव" प्रधान संपादक– सैयद बरकत अली की रिपोर्ट गरियाबंद (छत्तीसगढ़)   शासकीय महाविद्यालय द्वारा पक्षियों के लिए निःशुल्क सकोरे वितरण छुरा–:–आज जलवायु परिवर्तन...